कशमीर के पंडित।


कशमीर के पंडित 1990 के दशक में घाटी से आतंकी संगठनों ने भागने पर मजबूर कर दिए थे इन लोगों पर बहुत ही अत्याचार किए गए थे ।





पंडित समुदाय को निशाना बनाकर इनके साथ बहुत ही क्रूर और अभद्र व्यवहार किया जाता था ।कइ पंडितों की हत्या कि गइ इनकी बहू वेटियो के साथ वलात्कार किए गए इनके घर जला दिए गए ।





आखिर इनको अपनी जन्मभूमि छोडकर भागना पडा आज पंडित जम्मू संभाग में सरकारी घरों में रहने को मजबूर हैं इनको सरकार ने हर सुविधा उपलब्ध करवाई पर अपनी जन्मभूमि नहीं मिल पाई।





पं पुरूषोत्तम शर्मा